WHY US

Business Wire India is the only Indian news distribution platform to partner with ANI, PTI, IANS, and UNI Testimonials - Whenever we have something important to tell, Business Wire India is often our first point of call, Rajnish Wahi, Senior VP, Corporate Affairs & Communication, Snapdeal. I define Business Wire India as a facilitator for the communications industry, Sudeshna Das, Executive Director, ComConnect. Business Wire India is very good in terms of credible and authentic news distribution to media. It adds authenticity to all content, Arneeta Vasudeva, Vice President, Ogilvy. Business Wire India is the only Indian news distribution platform to partner with ANI, PTI, IANS, and UNI The BW India team is very professional and prompt, we have been working seamlessly with BW for many years now, Prathibha Nair, Assistant Manager - Corporate Communications, Wipro Limited. Businesswire helps us in securing coverage on prominent media outlets across US, Europe and India and the detailed tracking reports allow us to monitor our press release. All members of the servicing team are cooperative and efficient and they truly augment our outreach efforts, Aniruddha Basu, PR & Corporate Communications, L&T Technology Services

अर्थ नेटवर्क्‍स ने 2019 इंडिया लाइटनिंग रिपोर्ट जारी की

  • Wednesday, March 25, 2020 4:57PM IST (11:27AM GMT)
भारत में पिछले साल कंपनी के टोटल लाइटिंग नेटवर्क द्वारा 32.3 मिलियन से अधिक स्‍ट्राइक्‍स की पहचान की गई
 
Germantown, Md., United States:  
अर्थ नेटवर्क्‍स, भारत में देशव्‍यापी लाइटनिंग डिटेक्‍शन नेटवर्क के परिचालक, ने आज अपनी 2019 इंडिया लाइटनिंग रिपोर्ट और इंटरैक्टिव मैप को जारी किया। पूरे 2019 के दौरान, अर्थ नेटवर्क्‍स के टोटल लाइटनिंग नेटवर्क ने भारत में 32,238,667 लाइटनिंग स्‍ट्राइक्‍स (आकाशीय बिजली  कड़कने)की पहचान की जिसमें से 12,048,182 को खतरनाक क्‍लाउड-टु-ग्राउंड स्‍ट्राइक्‍स के तौर पर पहचाना गया। पिछले साल जिन शीर्ष पांच राज्‍यों में आकाशीय बिजली की सबसे अधिक घटनायें देखने को मिली उनमें ओडिशा, पश्चिम बंगाल, मध्‍य प्रदेश, झारखंड और कर्नाटक थे।
 
रिपोर्ट के मुख्‍य बिंदु
 
  • ओडिशा सभी राज्‍यों में सबसे आगे रहा और 4 मिलियन टोटल स्‍ट्राइक्‍स तथा जून में सबसे अधिक संख्‍या में लाइटनिंग काउंट्स दर्ज किये गये
  • पश्चिम बंगाल ने 3,000 डेंजरस थंडरस्‍टॉर्म अलर्ट्स, जारी किये, जोकि प्रॉपरायटरी अलर्टिंग विधि का लाभ उठाते हैं और जो सबसे गंभीर तूफानों और आकाशीय बिजला गतिविधि पर नजर रखते हैं। यह अंधड़,ओलावृष्टि और तेज हवाओं सहित नुकसानदायक मौसम के लिए अगुआ के तौर पर काम करते हैं।
  • 18,026 से अधिक अर्थ नेटवर्क्‍स डेंजरस थंडरस्‍टॉर्म अलर्ट को देश भर में जारी ‍किया गया, जिसमें उच्‍च संकेंद्रण देश के पूर्व ‍भाग में था
 
रिच स्‍पउल्डिंग, मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, अर्थ नेटवर्क्‍स ने कहा, “हम भारत में 2012से उपस्थित हैं और इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेट्रोलॉजी (आइआइटीएम) और अन्‍य सरकारी कंपनियों के साथ काम कर रहे हैं। तब से हमने देश में आपदा प्रबंधन एजेंसियों, व्‍यावसायिक संगठनों और अन्‍य कंपनियों के साथ अपने सहयोग को विस्‍तारित किया है ताकि महत्‍वपूर्ण वेदर अर्ली वार्निंग सिस्‍टम्‍स के संकलन के जरिये क्षमता निर्माण किया जा सके। इसका परिणाम, जोकि इस रिपोर्ट में प्रमाण है, एक देशव्‍यापी वेदर एवं टोटल लाइटनिंग नेटवर्क है जोकि शक्तिशाली स्‍टॉर्म-ट्रैकिंग क्षमताओं जैसेकि पल्‍सरैड सिमुलेटेड रडार सिस्‍टम, भविष्‍यवाणी और महत्‍वपूर्ण जीवनरक्षक अलर्ट्स जैसे हमारी पेटेंटेड डेंजरस थंडरस्‍टॉर्म अलर्ट (डीटीए) को सक्षम बनाता है, जिन्‍हें पूरी तरह से लाइटनिंग गतिविधि की उच्‍च दर से निकाला गया है।”  
 
मायने रखते हैं परिणाम

लाइटनिंग (आकाशीय बिजली) भारत में मौसम का एक प्रमुख खतरा है जिससे हर साल 3,000 लोगों की मौत हो जाती है। अर्थ नेटवर्क्‍स के शुरुआती वार्निंग समाधान जिसमें स्‍फेरिक साइरन, एक ऑनसाइट लाइटनिंग प्रॉक्सिमिटी अलर्टिंग सिस्‍टम शामिल हैं, लगाने से, ओडिशा राज्‍य में आकाशीय बिजली से संबंधित मौतों में 30 प्रतिशत से ज्‍यादा की कमी दर्ज की गई है। मौतों की संख्‍या में यह अद्भुतकमी इसलिए हुई है क्‍योंकि ओडिशा अब तेज तूफान आने से पहले 45 मिनट  लीड टाइम के साथ अलर्ट्स भेजने में सक्षम है।
 
प्रत्‍येक राज्‍य ने इस डेटा का लाभ उठाने के लिए अनूठा दृष्टिकोणअपनाया है, जोकि नेटवर्क आधारित मौसम सूचनाओं के साथ काम करने की लचीलता दर्शाते हैं। कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बिहार में, अर्थ नेटवर्क्‍स के लाइटनिंग एवं डेंजरस थंडरस्‍टॉर्म अलर्ट्स प्रादेशिक मुफ्‍त मोबाइल एप्‍स एवं एसएमएस के जरिये जनता को भेजे जाते हैं। आंध्र प्रदेश में, अर्थ नेटवर्क्‍स के पेटेंटेड डेंजरस थंडरस्‍टॉर्म अलर्ट्स, लाइटनिंग डेटा और प्रॉक्सिमिटी अलर्ट्स भी एपीआइ के जरिये राज्‍य के आपदा प्रबंधन अथॉरिटी को प्रदान किये जाते हैं।  असम  डिजास्‍टर मैनेजमेंट अथॉरिटी, नेटवर्क में सबसे हाल में शामिल होने वाली एंटाइटी, ने भी अपने निवासियों के लिए वेदर एलर्टिंग एप्‍प बनाने की योजना बनाई है।
 
100 से अधिक देशों में 1,800 सेंसर्स के साथ, अर्थ नेटवर्क्‍स टोटल लाइटनिंग नेटवर्क दुनिया में सबसे व्‍यापक एवं तकनीकी रूप से उन्‍नत लाइटनिंग नेटवर्क है। क्‍लाउड-टु-ग्राउंड और इन-क्‍लाउड लाइटनिंग दोनों पर निगरानी रखने की इसकी क्षमता भविष्‍यवेत्‍ताओं को तेज, स्‍थानीय स्‍टॉर्म एलर्ट्स जनरेट करने में सक्षम बनाती है और डाउनबर्स्‍ट, ओलावृष्टि, भारी बारिश, और तेज हवाओं जैसे प्रतिकूल मौसमों के अन्‍य रूपों की चेतावनी जनरेट करने में भी सक्षम बनाती है। इससे यह अन्‍य लाइटनिंग नेटवर्क्‍स से अलग खड़ा होता है। नेटवर्क से लाइटनिंग आंधी-तूफान आने, स्‍थान, कवरेज, गहनता और रुझानों की वास्‍तविक समय पर पहचान करने के लिए बुनियादी बातें हैं।
 
भारत में अर्थ नेटवर्क्‍स की साझेदारियों के साथ, व्‍यापक विजुअलाइजेशन टूल्‍स के अलावा, नए डेटासेट और ऑब्‍जर्वेशन सामनेआए हैं जोकि भारत की  आपदा प्रबंधन एजेंसियों को अपने आप अलर्ट जारी करने और तूफान आने के समय का अनुमान लगाने में सक्षम बनाते हैं। और क्‍या, यह साझेदिारयां सरकार और लोक रक्षा एजेंसियों दोनों के लिए फायदेमंद हैं जोकि जिंदगियों को बचाने और प्रतिकूल मौसम के कारण होने वाली संपदा के नुकसान को कम करने में राज्‍य की और मदद करन वाले उत्‍पादों तक पहुंच बनाने में सक्षम हैं। साथ ही निजी उद्योग भागीदारोंको प्रतिकूल मौसम के नए स्रोतों तक पहुंचने में भी मदद करता है ताकि परिचालन को इष्‍टतम किया जा सके, रुझानों का विश्‍लेषण किया जा सके और महत्‍वपूर्ण बुनियादी ढांचे की रक्षा की जा सके।
 
Follow this link to view the 2019 India Lightning Report.
 
अर्थ नेटवर्क्‍स के विषय में

अर्थ नेटवर्क्‍स, अन्‍वेषणकर्ताओंके एडवांस्‍ड एनवॉयरमेंटल मॉनीटरिंग  परिवार का हिस्‍सा, 20 से अधिक वर्षों से प्‍लैनेट® की रग-रग को पहचान रहा है। हम संस्‍थानों को दुनिया के सबसे बड़े हाइपरलोकल वेदर नेटवर्क से पर्यावरणीय इंटेलीजेंस मुहैया कराकर वित्‍तीय, परिचालन और मानव जोखिम से बचाने में मदद करते हैं। स्‍कूल, एयरपोर्ट, स्‍पोर्ट्स टीमें, यूटिलिटीज, और सरकारी एजेंसियां हमारे अर्ली वार्निंग समाधानों पर भरोसा करती हैं ताकि जिंदगियों को बचाया जा सके और मौसमी घटनाओं के लिए तैयार हुआ जा सके और परिचालन को ऑप्टिमाईज किया जा सके। सभी उद्योगों की कंपनियां जोखिम प्रबंधन, कारोबारी निरंतरता और संपदा संरक्षण से संबंधित फैसलों को लेने के लिए हमारे मौसम के आंकड़ों का प्रयोग करती हैं।
 
businesswire.com पर सोर्स विवरण देखें :
https://www.businesswire.com/news/home/20200324005800/en/
 
 
संपर्क :
मीडिया संपर्क:
एन्‍ना प्रोटियस
+1 301.250.4156
aporteus@earthnetworks.com

घोषणा (अस्वीकरण): इस घोषणा की मूलस्रोत भाषा का यह आधिकारिक, अधिकृत रूपांतर है। अनुवाद सिर्फ सुविधा के लिए मुहैया कराए जाते हैं और उनका स्रोत भाषा के आलेख से संदर्भ लिया जा सकता है और यह आलेख का एकमात्र रूप है जिसका कानूनी प्रभाव हो सकता है।
 
 


Submit your press release

Copyright © 2020 Business Wire India. All Rights Reserved.